Thursday, July 29, 2010

हर नीद में हर ख्वाब में......!

हर नीद में हर ख्वाब में...
हर सुबह में, हर रात में...
है तेरा अक्स बसा हुआ...
अब मेरे हर ज़ज्बात में...

मेरे दिल का हाल ना पूछ तू...
हर धड़कन पे तेरा नाम है...
तेरी आशिकी ही मेरी बन्दिगी...
तुझे पूजना ही मेरा काम है....

तू साथ है तो हैं जन्नतें...
वरना हर पल वीरान है...
तेरी खुशियाँ ही मेरा सब कुछ है...
तेरे सारे गम मेरे नाम है.....

मेरी मंजिलें जब भी हो पूरी...
वो बस हो तेरे साथ में....हर नींद में हर ख्वाब में.....!!

No comments:

Post a Comment